शनिवार, 4 जुलाई 2009

वो शब्द कहां से लाउं


वो शब्द कहां से लाउं

शब्दों का सन्सार है थोडा
शब्दों का
कार है थोडा
ईन थोडे शब्दों में कैसे
तुझपर गीत बनाउं


वो शब्द कहां से लाउं

सम्तुल्य नहीं कुछ भी तेरे
औ शब्द नहीं हैं पास मेरे
ईस अतुलित सुन्दर्ता, को कैसे
शब्दो मे बतलाउं


वो शब्द कहां से लाउं
For Website Development Please contact at +91-9911518386

2 टिप्‍पणियां:

  1. gunge kaa gud hai prem .avyakheya ,nirvachniya hai prem ,use shabdon men kaise piroun ?shasvat hai ye dvandv vahaan vahaan ,jahaan jahaan prem hai .veerubhai1947@gmail.com(virendra sharma .)

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी कविता का भाव बहुत सुन्दर है..
    लेकिन वर्तनी की अशुद्धियों को ठीक करना होगा,,,
    जैसे...थोड़ा, इस, सुन्दरता, इन.... इत्यादि.....
    अन्यथा सब ठीक है...
    बधाई..!!!

    उत्तर देंहटाएं

website Development @ affordable Price


For Website Development Please Contact at +91- 9911518386